अश्विन के प्लेइंग इलेवन में ना होने से टीम इंडिया हार सकती है पर्थ टेस्ट


भारत और आस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ टेस्ट में बदलाव के साथ उतरी है। भारत में स्पिनर आर अश्विन की चोटिल होने की वजह से गेंदबाजी में बदलाव करना पड़ा। दिग्गजों का मानना है अश्विन का ना होना भारतीय टीम के लिए अहम साबित हो सकता है। पर्थ टेस्ट के पहले दिन तेज हनुमा विहारी ने दो विकेट निकाले जिससे बाद साफ था अगर अश्विन प्लेइंग इलेवन में होते तो ऑस्ट्रेलियाई टीम को परेशानी में डाल सकते थे।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज माइकल हसी को लगता है कि स्टार आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की चोट भारतीय टीम को अस्थिर कर सकती है। इससे सीरीज के दूसरे टेस्ट में जीत दर्ज करने की उनकी उम्मीदों को बड़ा झटका लगेगा।

अश्विन ने एडीलेड में खेले गये पहले टेस्ट मैच छह विकेट लिये थे और पेट के बायें हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण वह दूसरे टेस्ट से बाहर हो गये। उन्होंने पिछले टेस्ट में 86.5 ओवर में 149 रन पर छह विकेट लेकर भारत को 31 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।

ऑस्ट्रेलिया के लिए 79 टेस्ट खेलने वाले हसी ने कहा, ‘‘ मुझे लगता है इससे निश्चित तौर पर भारतीय टीम का संतुलन बिगड़ेगा। एडीलेड को देखकर आप साफ तौर पर कह सकते हैं कि वे स्पिनर का इस्तेमाल करना चाहते हैं। एक छोर से स्पिनर और दूसरी छोर से तेज गेंदबाजों का बारी-बारी से इस्तेमाल की रहे थे। ’’

अश्विन की गैरमौजूदगी में भारतीय टीम दूसरे टेस्ट में चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरी है जो उसके टेस्ट इतिहास में सिर्फ तीसरी बार हो रहा है।पहले दिन के खेल की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया का स्कोर छह विकेट पर 277 रन है।

No comments