शादी के दिन ही आ जाएं पीरियड्स तो करे ये आसान उपाय


महिलाओ को हर महीने पीरियड्स की समस्या से गुजरना पड़ता है। लेकिन यह परेशानी तब ज्यादा होती है जब किसी लड़की की शादी होती है। जी हां शादी के दिन ही अगर पीरियड्स आ जाये तो लड़की को क्या करना चाहिए।आज हम आपको कुछ ऐसे आसान से उपाय बताएगें जो आपको इस परेशानी से निकलने में काफी काम आएगें। तो देर किस बात चलिए जानें.....


शादी की रस्‍मों के लिए में आपको घंटों बैठे रहना पड़ सकता है, हो सकता है कि ऐसे में पैड पहनकर आपको कंफर्ट महसूस ना हो। और पैड कुछ ही समय में नम भी हो जाते हैं। इसलिए पैड की जगह टैम्‍पून का इस्‍तेमाल करें। यह इस्‍तेमाल में अधिक आसान और झंझट मुक्‍त होता है। लेकिन अगर आपको टैम्‍पून इस्‍तेमाल करने पर कंफर्ट महसूस नहीं हो रहा तो लंबे समय तक चलने वाले अच्‍छे पैड्स का इस्‍तेमाल करें, या फिर आप एक साथ दो पैड का इस्‍तेमाल भी कर सकती हैं। यह एक सुरक्षित विकल्प है और आपको अपने खूबसूरत लहंगे पर दाग लग जाने का डर भी नहीं रहेगा।

पीरियड के दौरान ज्यादातर लड़कियों के पैरों, कमर, पेट और कूल्हों में दर्द होता है, इसलिए दर्द से बचने के लिए कम हील पहनने की ही कोशिश करें। अगर आपको भी पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द की शिकायत रहती है, इसलिए शादी के दिन दर्द से बचने के लिए अपने पास पेनकिलर जरूर रखें ताकि जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन आप दर्द और बेचैनी में ना बिताएं। अपनी बहन या सहेली से दवाईयां और पैड्स रखने के लिए कहें क्योंकि वो आपके अगल-बगल ही रहेगी जिससे कोई भी परेशानी होने पर आप उनकी मदद ले सकें।

वैसे तो इस मौके पर बार-बार उठकर जाना थोड़ा मुश्किल होगा क्‍योंकि सभी की नजरें आप पर टिकी होती है। लेकिन आप अपनी बहन या सहेली से कहें कि वह कुछ न कुछ बहाना बनाकर आपको बाथरूम जाने में मदद करे। पीरियड्स के दिनों में पिंपल्‍स का निकलना बहुत ही आम होता है। इनसे निपटने के लिए आप मुहांसों पर टूथपेस्ट लगाकर सूजन को काफी कम कर सकती हैं, इन पर बर्फ लगाना भी चमत्कारिक असर करता है। इसके अलावा आप अपनी ब्‍यूटीशियन को फाउंडेशन की मदद से इसे छुपाने के लिए भी कह सकती है।

No comments