सूर्य को अर्घ्य देते समय बोलें ये 1 मंत्र, दूर होगी सभी परेशानी


ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, सूर्यदेव को रोज सुबह तांबे के लोटे में पानी लेकर अर्घ्यदेने से सभी ग्रहों के दोष दूर हो सकते हैं। सूर्य कोअर्घ्य देते समय अगर कुछ विशेष मंत्रों का जाप किया जाए तो और भी जल्दी शुभ फल मिल सकते हैं। आगे सूर्यदेव के 5 मंत्र बताए गए हैं। सूर्य कोअर्घ्य देते समय इनमें से किसी का 1 जाप करना चाहिए...

1. ऊं घृ‍णिं सूर्य: आदित्य:

2. ऊं ह्रीं ह्रीं सूर्याय सहस्रकिरणराय मनोवांछित फलम् देहि देहि स्वाहा।।

3. ऊं ऐहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घय दिवाकर:।

4. ऊं ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्यः क्लीं ॐ

5. ऊं ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः

उपाय को करने की विधि -
#सुबह स्नान आदि करने के बाद तांबे के लोटे में साफ पानी लें।
#इसके बाद सूर्यदेव की ओर मुख करके धीरे-धीरे अर्घ्य अर्पित करें। साथ ही साथ ऊपर बताए गए मंत्रों में से किसी एक मंत्र का जाप करते रहें।
#अर्घ्य देने के बाद सूर्यदेव को प्रणाम करें और अगर कोई परेशानी है तो उसके निवारण के लिए प्रार्थना करें।

No comments