वास्तु के अनुसार दूध से करें ये उपाय, होगी अपार धन की वर्षा!


ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि दूध चंद्रमा का कारक है। जिस तरह शिवलिंग में दूध अर्पित करने से सभी ग्रहों का अशुभ फल खत्म हो जाता है। वहीं राहु के बुरे प्रभाव को खत्म करने के लिए सांप को दूध पिलाना अच्छा माना जाता है।

इसी तरह कई उपाय है। जिन्हें थोड़े से दूध के द्वारा करने पर आपको धन-धान्य, बल-बुद्धि की प्राप्ति होगी। हर काम में सफलता भी प्राप्त होगी। इतना ही नहीं दूध का कई उपाय करने से आपके घर लक्ष्मी का वास भी हो जाता है। अगर आप भी चाहते है कि आपको हर काम में सफलता और बिगड़ते हुए काम बन जाएं तो दूध का इस तरह इस्तेमाल कर इन समस्याओं से निजात पा सकते है। जानिए इन उपायों के बारें में....

धन प्राप्ति के लिए - अगर आपकी धन प्राप्ति की इच्छा है, तो रविवार के दिन रात को सोने से पहले अपने बेड के पास दूध रख लें। साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि दूध गिर न पाएं। अगले दिन सुबह उठकर नित्य कार्यों से निवृत होकर इस दूध को बबूल के पेड़ की जड़ में डाल दें। ये उपाय प्रत्येक रविवार की रात को करें। ये उपाय करने से बिगड़े काम बनने के साथ धन की प्राप्ति होगी।

कुंडली में ग्रह के अशुभ प्रभाव से मिलती है निजात - सोमवार के दिन सुबह शीघ्र उठकर स्नान आदि से निवृत होकर शिवालय जाकर शिवलिंग पर कच्चा दूध अर्पित करें। लगातार सात सोमवार ये उपाय करने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाएगी। इसके साथ ही कुंडली में कोई ग्रह अशुभ प्रभाव डाल रहा होता है तो वह भी टल जाता है।

घर में होगा लक्ष्मी का स्थाई वास - घर में लक्ष्मी का स्थाई वास हो इसके लिए एक लोहे के बर्तन में जल, चीनी, दूध तथा घी मिला लें। इस मिश्रण को पीपल के पेड़ की छाया के नीचे खड़े होकर इसकी जड़ में अर्पित करें।

बिजनेस की वृद्धि के लिए - सोमवार के दिन शिवालय जाकर जल में दूध मिलाकर शिवलिंग पर अर्पित करते समय रूद्राक्ष की माला से ऊं सोमेश्वराय नम: का 108 बार जप करें। साथ ही पूर्णिमा के दिन दूध मिश्रित जल से चंद्रमा को अर्घ्य दें और घर व्यवसाय में उन्नति के लिए प्रार्थना करें। इस उपाय से घर में धन का आना आरंभ हो जाएगा।

बीमारियों से निजात पाने के लिए - रात को शिवालय में जल और दूध मिलाकर अर्पण करने के साथ ही िस मंत्र का 108 बार जाप करें- ऊं जूं सः।

कुंडली में गुरु देने लगेगा शुभ फल - कुंडली में गुरु अशुभ प्रभाव दे रहा है तो दूध में चीनी, केसर या हल्दी मिश्रित कर शाम के समय ऊं नम: शिवाय: मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर अर्पित करें। इससे गुरु शुभ फल देने लगेगा।

No comments