श्लोकों और मंत्रों के उच्चारण के बीच राम मंदिर मॉडल का अनावरण


प्रयागराज,विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने प्रयागराज में माघ मेला में अपने शिविर में अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर की प्रतिकृति का अनावरण किया है। हालांकि, मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट अभी नहीं बना है। 1989 में पहली बार अयोध्या में प्रदर्शन के लिए लगाए गए मॉडल को विहिप उपाध्यक्ष चंपत राय द्वारा श्लोकों और मंत्रों के उच्चारण के बीच प्रदर्शित किया गया।

यह पहली बार है जब माघ मेले में भक्तों के लिए मंदिर की प्रतिकृति को प्रदर्शित किया गया है।

चंपत राय ने इस मौके पर कहा, "प्रस्तावित मंदिर का मॉडल पहली बार 1989 में कुंभ मेले के दौरान प्रयाग में दिखाया गया था। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण उसी मॉडल पर किया जाएगा।"

उन्होंने यह भी दावा किया कि मंदिर का मॉडल नहीं बदला जाएगा, क्योंकि पिछले 30 सालों से अयोध्या में मंदिर के लिए पत्थरों की नक्काशी की जा रही है।

इससे पहले, विहिप कार्यकर्ताओं की दो दिवसीय बैठक को संबोधित करते हुए, राय ने कहा, "हम लगातार उस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए काम कर रहे हैं जिसके लिए संगठन का गठन किया गया था। हम हिंदू समुदाय को एकजुट करने की कोशिश कर रहे हैं।"

विहिप नेता ने कहा कि संगठन धर्म परिवर्तन के मुद्दे से भी निपटेगा और धर्मांतरण करने वालों की 'घर वापसी' के लिए भी प्रयास करेगा।

उन्होंने कहा, "गौ (गाय) और गंगा हमारी पहचान का हिस्सा हैं और हमें उन पर बार-बार चर्चा आयोजित करनी चाहिए।"

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बारे में विहिप नेता ने कहा, "राम मंदिर के निर्माण की लड़ाई पिछले 490 वर्षों से चलती आई है। यह अब समाप्त हो गई है और पूरी दुनिया ने हमारे आध्यात्मिक वर्चस्व को मान्यता दी है।"

उन्होंने कहा कि विहिप गांवों, ब्लॉकों, शहरों और जिलों में 'राम महोत्सव' नामक कई समारोहों का आयोजन करेगा।

इन समारोहों के दौरान, चैत्र वर्ष प्रतिपदा से हनुमान जयंती तक 'राम शिला' की पूजा की जाएगी, जो 22 मार्च से 9 अप्रैल तक चलेगा।

No comments