अखिरकार पुलिस ने खाली करवाया शाहीन बाग, उखाड़ फेंके टेंट


मंगलवार सुबह देश में नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध का केंद्र बना शाहीनबाग को खाली कराया दिया गया है। पुलिस ने यह करवाई धरने के 101वें दिन किया।

धरना स्थल से पुलिस ने टेंट उखाड़ दिया है, और रोड आवाजाही के खाली करवा दिया है। हालांकि कुछ लोगो ने पुलिस की इस करवाई का विरोध किया, जिसकी वजह से दिल्ली पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में ले लिया है।

बड़ी संख्या में पुलिस वहां मौजूद है। पुलिस के मुताबिक कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण बार बार अपील का असर नही होने की वजह से कार्रवाई की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक शुरूआती तौर पर 10 से 12 लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिन पर कानूनी कार्रवाई होगी। 

गौरतलब है कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए दिल्ली और केंद्र सरकार ऐहतियातन हर कदम उठा रही है। दिल्ली में कर्फ्यू जैसे हालात हैं। ऐसे में जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई के मूड में हैं।

बता दें कि दिल्ली के शाहीन बाग में कई महीनों से नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन हो रहा था। कुछ प्रदर्शनकारी कोरोना के मद्देनजर दिल्ली में लगाए गए धारा 144 को भी मानने से इनकार कर रहे थे। ये लोग केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे थे , जिसको सरकार ने संसद के दोनों सदनों से पारित कराकर कानून बनाया था।

इस कानून के तहत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्मों के प्रवासियों के लिए नागरिकता के नियम को आसान बनाया गया है।

इस बीच कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए सोमवार को शुरू हुये 'लॉकडाउन' का दिल्ली में कम असर देखते हुये सोमवार की रात आठ बजे धारा 144 लागू कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस को इस पर सख्ती से अमल लाने को कहा गया है।

No comments